धान उत्पादन की श्री(SRI) पद्धति

श्री पद्धति धान उत्पादन की एक तकनीक है जिसके द्वारा पानी के बहुत कम प्रयोग से भी धान का बहुत अच्छा उत्पादन सम्भव होता है। इसे सघन धान प्रनाली (System of Rice Intensification-SRI या श्री पद्धति) के नाम से भी जाना जाता है। जहां पारंपरिक तकनीक में धान के पौधों को पानी से लबालब भरे […]

Read More
धान-की-उन्नत-उत्पादन-तकनीक

धान-की-उन्नत-उत्पादन-तकनीक : बीते कुछ दिनों से अच्छी बारिश हो रही है, जिसके बाद किसानों ने धान की रोपाई जोर-शोर से शुरू कर दी है। इस बार मौसम विभाग का भी अनुमान है कि बारिश अच्छी होगी, जो कि धान की फसल के लिए अच्छी खबर है। लेकिन इसके बावजूद किसानों को फसल के प्रति विशेष सावधानी बरतने की जरूरत […]

Read More
वयपरक-फसल-मगफल-क-वजञनक-खत

बहुपयोगी व्यापारिक फसल-मूँगफली  भारत की तिलहन फसलो  में मूँगफली का मुख्य स्थान है । इसे तिलहन फसलों का राजा तथा गरीबों के बादाम की संज्ञा दी गई है। इसके दाने में लगभग 45-55 प्रतिशत तेल (वसा) पाया जाता है जिसका उपयोग खाद्य पदार्थो के रूप में किया जाता है। इसके तेल में लगभग 82 प्रतिशत […]

Read More
गेंहू स्टॉक

सरकारी एजेंसियों ने इस साल गेहूं की खरीद में जोरदार बढ़ोतरी की है लेकिन सरकारी खरीद में हुई बढ़ोतरी के बावजूद इस साल पहली मई तक सरकारी गोदामों में गेहूं का स्टॉक पिछले साल के मुकाबले कम दर्ज किया गया है। फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया यानि FCI की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के […]

Read More
मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक

मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक मध्यप्रदेश में मूंग ग्रीष्म एवं खरीफ दोनो मौसम की कम समय में पकने वाली एक मुख्य दलहनी फसल है। इसके दाने का प्रयोग मुख्य रूप से दाल के लिये किया जाता हैजिसमें 24-26% प्रोटीन,55-60% कार्बोहाइड्रेट एवं 1.3%वसा होता है। दलहनी फसल होने के कारण इसकी जड़ो में गठाने पाई जाती […]

Read More
narvai me aag na lagaye

खेत की नरवाई को जलानेको लेकर ऐसा लग रहा है कि जैसे किसानों के बीच होड़ लग गई हो और शासन के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए किसान खुले आम अपने खेत की नरवाई में आग लगा रहा है और जब आग काफी विकराल रूप ले लेती है तो सरकारी मशीनरी फायर बिग्रेड का उपयोग […]

Read More
नरबाई न जलाएं

प्रतिबंध के बाद भी  जला रहे गेंहू की नरवाई गेंहूं की कटाई प्रारंभ हो चुकी है। कटाई के बाद बचे गेंहूं के डंठलों , नरवाई से किसान भूसा न बनाकर इसे जला देते हैं। भूसे की आवश्यकता पशु आहार के साथ ही अन्य वैकल्पिक साधन के रूप में की जा सकती है। भूसा इंर्ट- भट्टा […]

Read More
60 हजार करोड़ से ज्यादा कर्ज मध्य प्रदेश के 50 लाख किसानों पर

खेती उजाड़ता कृषि प्रधान भारत मानव विकास के सिद्धांत के पुरोधा चार्ल्स डारविन का प्रसिद्ध कथन है कि मानव सभ्यता की गहराई १८ इंचहै । उनका आशय संभवत: भूमि की उस परत से है जहां से हमें रोटी व कपड़े के साधन मिलते हैं । खेती इस पृथ्वी पर प्रारंभ हुई संभावत: पहली नियोजित मानव […]

Read More
मशरूम की खेती-masroom

मशरूम की खेती अधि‍क लाभदायक है वर्षा ऋतु में मिट्टी में से अपने आप छतरीनुमा आकार के सफेद, लाल, भूरे विभिन्न रंगों के फफूँद या क्षत्रक उगते हैं। यही फफूँद मशरूम (mushroom) कहलाते हैं। इसे फुटू या पीहरी भी कहा जाता है। यह फफूँदो का फलनकाय होता है। जो  पौश्ष्टिक, रोगरोधक, स्वादिष्ट तथा विशेष महक […]

Read More
Translate to »