अजोला उपादन तकनीक एवं लाभ

कृषि उत्पादन की कीमत में अनिश्चतता और कृषि आदानों की तेजी से बढ़ती लागत, भूजल स्तर में गिरावट के कारण कृषि लागत बढ़ गयी है, यही कारण है पिछले कुछ वर्षों में खेती के प्रति आकर्षण कम हो रहा है। इस समस्या के समाधान के लिए अजोला की खेती बहुत लाभकारी हो सकती है। अजोला […]

Continue Reading
स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय

स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय: रेखा संसानवाल

स्पिरोलिना (ऑरथो स्पाइरा प्लैटेंसिस), एक नील हरि‍त शैवाल (Blue green algae) है। यह एक पौष्टिक प्रोटीन आहार पूरक है और इसका उपयोग कई दवाओं के निर्माण और सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है। इसमें  प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट्स, कई विटामिन और खनिज प्रचूर मात्रा पाए जाते है। स्वस्थ जीवन शैली के लिए यह एक सूपर फूड के रूप में जाना जाता […]

Continue Reading
krishi sahayak android application

देश में किसानो के लिए कृषि सहायक एंड्राइड एप्लीकेशन का सुभारम्भ किया गया

देश में किसानो को कृषि से सम्बंधित जानकारी , कृषि खबरे , सरकारी योजनाओ की जानकारी हेतु कृषि सहायक वेबसाइट का विगत तीन वर्षो से संचालन करने के बाद हमारे किसान भाइयों के सहयोग एवं उनका हमारी वेबसाइट पर जानकारी पढने के कारण , उनके सुझावों को जन जन तक पहुचाने के लिए हमने बदलती […]

Continue Reading
धान उत्पादन की श्री(SRI) पद्धति

धान उत्पादन की श्री(SRI) पद्धति : चावल उत्पादन दोगुना करने का पक्का तरीका

श्री पद्धति धान उत्पादन की एक तकनीक है जिसके द्वारा पानी के बहुत कम प्रयोग से भी धान का बहुत अच्छा उत्पादन सम्भव होता है। इसे सघन धान प्रनाली (System of Rice Intensification-SRI या श्री पद्धति) के नाम से भी जाना जाता है। जहां पारंपरिक तकनीक में धान के पौधों को पानी से लबालब भरे […]

Continue Reading
धान-की-उन्नत-उत्पादन-तकनीक

इनके प्रयोग से धान की फसल रहेगी निरोग

धान-की-उन्नत-उत्पादन-तकनीक : बीते कुछ दिनों से अच्छी बारिश हो रही है, जिसके बाद किसानों ने धान की रोपाई जोर-शोर से शुरू कर दी है। इस बार मौसम विभाग का भी अनुमान है कि बारिश अच्छी होगी, जो कि धान की फसल के लिए अच्छी खबर है। लेकिन इसके बावजूद किसानों को फसल के प्रति विशेष सावधानी बरतने की जरूरत […]

Continue Reading
वयपरक-फसल-मगफल-क-वजञनक-खत

व्यापारिक फसल-मूँगफली की वैज्ञानिक खेती

बहुपयोगी व्यापारिक फसल-मूँगफली  भारत की तिलहन फसलो  में मूँगफली का मुख्य स्थान है । इसे तिलहन फसलों का राजा तथा गरीबों के बादाम की संज्ञा दी गई है। इसके दाने में लगभग 45-55 प्रतिशत तेल (वसा) पाया जाता है जिसका उपयोग खाद्य पदार्थो के रूप में किया जाता है। इसके तेल में लगभग 82 प्रतिशत […]

Continue Reading
गेंहू स्टॉक

गेहूं की बंपर खरीद के बावजूद सरकारी स्टॉक पिछले साल से 37 लाख टन कम

सरकारी एजेंसियों ने इस साल गेहूं की खरीद में जोरदार बढ़ोतरी की है लेकिन सरकारी खरीद में हुई बढ़ोतरी के बावजूद इस साल पहली मई तक सरकारी गोदामों में गेहूं का स्टॉक पिछले साल के मुकाबले कम दर्ज किया गया है। फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया यानि FCI की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के […]

Continue Reading
मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक

मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक

मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक मध्यप्रदेश में मूंग ग्रीष्म एवं खरीफ दोनो मौसम की कम समय में पकने वाली एक मुख्य दलहनी फसल है। इसके दाने का प्रयोग मुख्य रूप से दाल के लिये किया जाता हैजिसमें 24-26% प्रोटीन,55-60% कार्बोहाइड्रेट एवं 1.3%वसा होता है। दलहनी फसल होने के कारण इसकी जड़ो में गठाने पाई जाती […]

Continue Reading
narvai me aag na lagaye

आग लगाने से खेत को में होते है कई नुकसान

खेत की नरवाई को जलानेको लेकर ऐसा लग रहा है कि जैसे किसानों के बीच होड़ लग गई हो और शासन के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए किसान खुले आम अपने खेत की नरवाई में आग लगा रहा है और जब आग काफी विकराल रूप ले लेती है तो सरकारी मशीनरी फायर बिग्रेड का उपयोग […]

Continue Reading
नरबाई न जलाएं

प्रतिबंध के बाद भी जला रहे गेंहू की नरवाई

प्रतिबंध के बाद भी  जला रहे गेंहू की नरवाई गेंहूं की कटाई प्रारंभ हो चुकी है। कटाई के बाद बचे गेंहूं के डंठलों , नरवाई से किसान भूसा न बनाकर इसे जला देते हैं। भूसे की आवश्यकता पशु आहार के साथ ही अन्य वैकल्पिक साधन के रूप में की जा सकती है। भूसा इंर्ट- भट्टा […]

Continue Reading