Krishi Sahayak

हरी खाद (ग्रीन मैन्योर) भूमि के लिये वरदान है। यह भूमि की संरचना को भी सुधारते हैं तथा पोषक तत्व भी उपलब्ध कराते हैं। जानवर को खाने में जैसे रेशेवाले पदार्थ की मात्रा ज्यादा रहने से स्वास्थ्य के लिये अच्छा रहता है उसी प्रकार रेशेवाले खाद (हरी खाद) का खेतों में ज्यादा प्रयोग खेत के […]

Read More
60 हजार करोड़ से ज्यादा कर्ज मध्य प्रदेश के 50 लाख किसानों पर

खेती उजाड़ता कृषि प्रधान भारत मानव विकास के सिद्धांत के पुरोधा चार्ल्स डारविन का प्रसिद्ध कथन है कि मानव सभ्यता की गहराई १८ इंचहै । उनका आशय संभवत: भूमि की उस परत से है जहां से हमें रोटी व कपड़े के साधन मिलते हैं । खेती इस पृथ्वी पर प्रारंभ हुई संभावत: पहली नियोजित मानव […]

Read More
Wheat-genhu-krishi sahayak

भारत सरकार के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग में सचिव सुश्री प्रीति सूडान की अध्यक्षता में राज्यों के खाद्य सचिवों का सम्मेलन गत दिनों आयोजित किया गया, जिसमें गेहूं उत्पादन की संभावनाओं और रबी विपणन सीजन 2017-18 के दौरान गेहूं खरीद के अनुमान पर चर्चा की गईं। बैठक में 330 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदने […]

Read More
farmers handbook

सरकारी योजनाओ व कार्यक्रमों की किसानो के लिए मार्गदर्शिका को डाउनलोड करने के लिए निचे दिए लिंक पे क्लिक करे या इमेज पे क्लिक करें Download-FarmersHandbook_2016-17 krishi sahayak farmers handbook

Read More
krishisahayak-header

कीड़े-मकोड़े फसल की पैदावार को अत्यधिक क्षति पहुँचाते हैं जिससे किसानों का परिश्रम बर्बाद हो जाता है। इन समस्यों के निवारण हेतु किसान रासायनिक कीटनाशकों का प्रयोग करते हैं । इस बात में कोई संदेह नहीं है कि रासायनिक कीटनाशक कीट प्रबन्धन के सफल हथियार है परन्तु इनके अनेकों दुष्परिणाम भी हैं। जीवनाशी के उपयोग […]

Read More
Translate to »