स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय

स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय: रेखा संसानवाल

स्पिरोलिना (ऑरथो स्पाइरा प्लैटेंसिस), एक नील हरि‍त शैवाल (Blue green algae) है। यह एक पौष्टिक प्रोटीन आहार पूरक है और इसका उपयोग कई दवाओं के निर्माण और सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है। इसमें  प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट्स, कई विटामिन और खनिज प्रचूर मात्रा पाए जाते है। स्वस्थ जीवन शैली के लिए यह एक सूपर फूड के रूप में जाना जाता […]

Continue Reading
हरी खाद बनाने की विधि तथा लाभ:

हरी खाद बनाने की विधि तथा लाभ

मिट्टी की उपजाऊ शक्ति को बनाये रखने के लिए हरी खाद एक सस्ता विकल्प है । सही समय पर फलीदार पौधे की खड़ी फसल को मिट्टी में ट्रेक्टर से हल चला कर दबा देने से जो खाद बनती है उसको हरी खाद कहते हैं । आदर्श हरी खाद में निम्नलिखित गुण होने चाहिए उगाने का न्यूनतम खर्च न्यूनतम सिंचाई आवश्यकता कम से […]

Continue Reading
krishi sahayak android application

देश में किसानो के लिए कृषि सहायक एंड्राइड एप्लीकेशन का सुभारम्भ किया गया

देश में किसानो को कृषि से सम्बंधित जानकारी , कृषि खबरे , सरकारी योजनाओ की जानकारी हेतु कृषि सहायक वेबसाइट का विगत तीन वर्षो से संचालन करने के बाद हमारे किसान भाइयों के सहयोग एवं उनका हमारी वेबसाइट पर जानकारी पढने के कारण , उनके सुझावों को जन जन तक पहुचाने के लिए हमने बदलती […]

Continue Reading
जैविक खेती

जैविक खेती हानिकारक कीट का दुश्मन कीट बनाकर फसल की सुरक्षा करती है

जैविक खेती एक वैकल्पिक कृषि प्रणाली है जो 20वीं सदी में प्रारम्भ हुई। इसका उद्देश्य खेती करने के तरीकों में बदलाव करना है। यह वह विधि है जो संश्लेषित उर्वरकों एवं संश्लेषित कीटनाशकों के अप्रयोग या न्यूनतम प्रयोग पर आधारित है। इस प्रकार की खेती आज विभिन्न जैविक कृषि संगठनों द्धरा विकसित की जा रही […]

Continue Reading
धान उत्पादन की श्री(SRI) पद्धति

धान उत्पादन की श्री(SRI) पद्धति : चावल उत्पादन दोगुना करने का पक्का तरीका

श्री पद्धति धान उत्पादन की एक तकनीक है जिसके द्वारा पानी के बहुत कम प्रयोग से भी धान का बहुत अच्छा उत्पादन सम्भव होता है। इसे सघन धान प्रनाली (System of Rice Intensification-SRI या श्री पद्धति) के नाम से भी जाना जाता है। जहां पारंपरिक तकनीक में धान के पौधों को पानी से लबालब भरे […]

Continue Reading

किसान बिना खर्चे के घर में बनाएं जैविक कीटनाशक

ज्यादा तर किसान अपनी फसलों में लगने वाले कीटों से बचाव के लिए राशायनिक कीटनाशक व दवाओं का इस्तेमाल करते हैं, जो न सिर्फ वातावरण को बल्कि हमारी सेहत को भी नुकसान पहुंचाता है। लेकिन अगर किसान इसकी जगह पर जैविक कीटनाशक और दवाओं को इस्तेमाल करें तो इससे न सिर्फ पर्यावरण और हमारी सेहत पर अच्छा असर पड़ेगा […]

Continue Reading
सब्जियों में खरपतवार की समस्या

सब्जियों (Vegetables) में खरपतवार की समस्या व निराकरण

सब्जियों में खरपतवार की समस्या अन्य फसलों से अधिक होती है| क्योंक – Intruder Problems and Solutions in Vegetables सब्जी की फसल को अन्य फसलों की अपेक्षा प्रारम्भ में अधिक दुरी पर लगाते हैं जिससे खरपतवार  की पैदावार  के लिए अनुकूल वातावरण प्राप्त होता है और वे अधिक वृद्धि करते हैं। जैसे धान 10 – […]

Continue Reading
मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक

मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक

मूंग उत्पादन की उन्नत तकनीक मध्यप्रदेश में मूंग ग्रीष्म एवं खरीफ दोनो मौसम की कम समय में पकने वाली एक मुख्य दलहनी फसल है। इसके दाने का प्रयोग मुख्य रूप से दाल के लिये किया जाता हैजिसमें 24-26% प्रोटीन,55-60% कार्बोहाइड्रेट एवं 1.3%वसा होता है। दलहनी फसल होने के कारण इसकी जड़ो में गठाने पाई जाती […]

Continue Reading
60 हजार करोड़ से ज्यादा कर्ज मध्य प्रदेश के 50 लाख किसानों पर

खेती उजाड़ता कृषि प्रधान भारत

खेती उजाड़ता कृषि प्रधान भारत मानव विकास के सिद्धांत के पुरोधा चार्ल्स डारविन का प्रसिद्ध कथन है कि मानव सभ्यता की गहराई १८ इंचहै । उनका आशय संभवत: भूमि की उस परत से है जहां से हमें रोटी व कपड़े के साधन मिलते हैं । खेती इस पृथ्वी पर प्रारंभ हुई संभावत: पहली नियोजित मानव […]

Continue Reading