उपार्जन राशि में से ऋण अदायगी के लिए 50 प्रतिशत से अधिक राशि न काटी जाए

सुर्खियाँ

25 लाख एम.टी. गेहूँ उपार्जित, 80 प्रतिशत गेहूँ का हुआ परिवहन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की उत्कृष्ट उपार्जन कार्य की सराहना

भोपाल: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिए हैं कि रबी उपार्जन के अंतर्गत किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर बेची गई उनकी फसल की राशि में से बैंक किसानों का बकाया ऋण की राशि का 50 प्रतिशत से अधिक न काटें। साथ ही, उन्हें तुरंत शासन की योजना अनुसार शून्य प्रतिशत ब्याज पर अगली फसल के लिये ऋण उपलब्ध करवा कराएं। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के मौजूदा दौर में प्रदेश में गेहूँ उपार्जन का उत्कृष्ट कार्य किया जा रहा है। गेहूँ उपार्जन के 15 दिन में ही प्रदेश में 25 लाख 15 हजार एम.टी. गेहूँ उपार्जित किया जा चुका है तथा उसका 80 प्रतिशत परिवहन भी हो चुका है। साथ ही, 991 करोड़ रूपए की राशि किसानों के खातों में पहुंच चुकी है। इसके लिए उन्होंने कार्य से जुड़े पूरे अमले की सराहना की। 

5 लाख 20 हजार किसानों का गेहूँ खरीदा

प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिवशेखर शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में 5 लाख 20 हजार किसानों से 25 लाख 15 हजार मीट्रिक टन गेहूँ समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है। किसानों को भुगतान के लिए 1640 करोड़ रूपए की राशि बैंकों को भिजवा दी गई है, जिसमें से 991 करोड़ रूपए किसानों के खातों में पहुंच चुके हैं। उपार्जित गेहूँ में से 80 प्रतिशत का परिवहन हो गया है। 

किसानों को न आये कोई परेशानी

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम किसानों का चमकविहीन गेहूँ भी समर्थन मूल्य पर खरीद रहे हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि किसानों की फसलें गिर जाने के कारण कटाई के समय उनमें कुछ मिट्टी मिल गई है। इस प्रकार के गेहूँ की खरीदी की भी व्यवस्था की जाए। किसानों को कोई परेशान न आये।

चना, मसूर की खरीदी प्रारंभ, सरसों की कल से खरीदी

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में आज से चना एवं मसूर की समर्थन मूल्य पर खरीदी प्रारंभ हो गई है। सरसों की खरीदी कल से प्रारंभ हो जाएगी। उन्होंने प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केसरी को इस संबंध में सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.