प्रदेश में यूएएम में 2 लाख 6 हजार से अधिक उद्यमों का पंजीयन

रोजगार सुर्खियाँ

41 जिलों में शत-प्रतिशत से ज्यादा उपलब्धि

भोपाल: प्रदेश के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों का उद्योग आधार मेमोरेण्डम (यूएएम) के तहत वित्तीय वर्ष 2017-18 में 2 लाख 6 हजार 142 उद्यमों द्वारा ऑन लाइन पंजीयन करवाया गया है।

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि सभी 51 जिलों को दिये गये लक्ष्य में सर्वाधिक पंजीयन धार जिले में 6200 लक्ष्य के विरुद्ध 8238 (132 फीसदी से ज्यादा) उपलब्धि प्राप्त की है। इसके बाद इंदौर जिले में 9 हजार के लक्ष्य के विरुद्ध सर्वाधिक 11 हजार 840 (130 फीसदी से ज्यादा) उद्यमों द्वारा पंजीयन करवाया गया है। उन्होंने बताया कि धार, इंदौर समेत 41 जिलों में सौ फीसदी अथवा उससे अधिक लक्ष्य की प्राप्ति की गई है।

राज्य मंत्री श्री पाठक ने बताया कि भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम मंत्रालय की अधिसूचना 18 सितम्बर, 2015 के बाद एमएसएमई उद्योग के पंजीयन की नई व्यवस्था सम्पूर्ण देश में लागू की गई है। इस नई व्यवस्था के तहत उद्यमी घर बैठे उद्योग आधार मेमोरेण्डम ऑनलाइन पंजीयन करवा सकते हैं। इसके पहले उद्यमी को जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र जाकर पंजीयन की जटिल व्यवस्था से गुजरना पड़ता था।

पंजीयन की प्रक्रिया : उद्योग आधार ज्ञापन फाइल करने के लिये http://udyogaadhar.gov.in उद्योग आधार पोर्टल पर ऑनलाइन फाइल किया जाता है। अपवादिक मामलों में जहाँ किसी कारण से ऑनलाइन पंजीयन संभव नहीं हो पाता, वहां फार्म की हार्ड प्रति संबंधित जिला उद्योग केन्द्र को प्रस्तुत कर उद्योग आधार पंजीयन ऑनलाइन फाइल कर सकते हैं। इसमें कोई शुल्क नहीं लगता है।

ऑनलाइन पंजीयन की खासियत यह भी है कि एक ही आधार संख्या का प्रयोग कर एक से अधिक उद्योग आधार ज्ञापन फाइल करने पर कोई प्रतिबंध नहीं है। इसके अलावा उद्यमों द्वारा स्व-घोषणा के आधार पर भी ज्ञापन फाइल किया जायेगा। इसके समर्थन में कोई दस्तावेज अपलोड अथवा प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है। ऑनलाइन पंजीयन में राज्य सरकार अपना ऐसा कोई व्यक्ति अधिकृत करेगी, जो उद्यमों से मेमोरेण्डम में दी गई सूचना के दस्तावेजी प्रमाण माँग सकता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.