सरसों की खेती में उर्वरक प्रबंधन

सरसों की खेती में उर्वरक प्रबंधन

फसल सिफारिश रबी फसल – सरसों अन्तर सस्य क्रियायें समय पर निदाई गुड़ाई से बीज और अनाज दोनों की उपज में वृध्दि होती है। सरसों के लिए विरलन और खाली स्थानों को बुआई के 15 से 20 दिन में भर देना चाहिए। फसल की प्रारंभिक अवस्था में खरपतवार के प्रकोप से बचाना चाहिए। सरसों के […]

Continue Reading
रबी फसल - चना

चने में उर्वरक प्रबंधन

फसल सिफारिशें रबी फसल – चना सुझाव कम और ज्यादा तापमान हानिकारक है। गहरी काली और मध्यम मिट्टी में बोनी करें। मिट्टी गहरी,भुरभुरी होना चाहिए। प्रमाणित और अच्छी गुणवत्ता, अच्छी अकुंरण क्षमता वाले बीजों का उपयोग करें। अपने क्षेत्र के लिए अनुमोदित किस्मों का उपयोग करें। मध्य प्रदेश में अक्टूबर के मध्य में बोनी करना […]

Continue Reading
गेहूं में उर्वरक प्रबंधन

गेहूं में उर्वरक प्रबंधन

फसल सिफारिशें रबी फसल -गेहूॅ उर्वरक 15-20 टन गोबर की सड़ी-गली खाद हर दो साल बाद खेत में डालें। गोबर की खाद डालने से भूमि की संरचना में सुधार और पैदावार में बढ़ोतरी होती है। ऊँची किस्मों के लिए उर्वरक सुझाव 40 कि नाइट्रोजन प्रति हेक्टेयर की दर से डाले … 20 कि फास्फोरस प्रति […]

Continue Reading

मिर्च की फसल में लगने वाले रोगों के बचाव के उपाय

मिर्च की खेती इस बार दगा दे रही है। कीटों का प्रकोप फसल को उखाड़ने के लिए किसानों को बाध्य कर रहा है। कीटों की पहचान और उनसे नुकसान के अलावा बचाव का उपाय सुझा रहे हैं कृषि विज्ञान केंद्र पीजी कॉलेज के फसल सुरक्षा वैज्ञानिक डॉ.आरपी सिंह। थ्रिप्स : कीट का रंग हल्का पीला […]

Continue Reading
Paddy_fields_in_India

धान की फसल में खरपतवार नियंत्रण के कारगर उपाय

धान की फसल में पाये जाने वाले प्रमुख खरपतवार सावां घास, सावां, टोडी बट्टा या गुरही, रागीया झिंगरी, मोथा, जंगली धान या करघा, केबघास, बंदरा- बंदरी, दूब (एकदलीय घास कुल के), गारखमुडी, विलजा, अगिया, जलकुम्भी, कैना, कनकी, हजार दाना और जंगली जूट हैं। खरपतवार नियंत्रण के लिए निम्रलिखित उपाय अपनावें:- 1. जहां खेत में मिट्टी […]

Continue Reading
स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय

स्पिरोलिना: कम निवेश तथा अच्छी आय: रेखा संसानवाल

स्पिरोलिना (ऑरथो स्पाइरा प्लैटेंसिस), एक नील हरि‍त शैवाल (Blue green algae) है। यह एक पौष्टिक प्रोटीन आहार पूरक है और इसका उपयोग कई दवाओं के निर्माण और सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है। इसमें  प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट्स, कई विटामिन और खनिज प्रचूर मात्रा पाए जाते है। स्वस्थ जीवन शैली के लिए यह एक सूपर फूड के रूप में जाना जाता […]

Continue Reading
हरी खाद बनाने की विधि तथा लाभ:

हरी खाद बनाने की विधि तथा लाभ

मिट्टी की उपजाऊ शक्ति को बनाये रखने के लिए हरी खाद एक सस्ता विकल्प है । सही समय पर फलीदार पौधे की खड़ी फसल को मिट्टी में ट्रेक्टर से हल चला कर दबा देने से जो खाद बनती है उसको हरी खाद कहते हैं । आदर्श हरी खाद में निम्नलिखित गुण होने चाहिए उगाने का न्यूनतम खर्च न्यूनतम सिंचाई आवश्यकता कम से […]

Continue Reading
krishi sahayak android application

देश में किसानो के लिए कृषि सहायक एंड्राइड एप्लीकेशन का सुभारम्भ किया गया

देश में किसानो को कृषि से सम्बंधित जानकारी , कृषि खबरे , सरकारी योजनाओ की जानकारी हेतु कृषि सहायक वेबसाइट का विगत तीन वर्षो से संचालन करने के बाद हमारे किसान भाइयों के सहयोग एवं उनका हमारी वेबसाइट पर जानकारी पढने के कारण , उनके सुझावों को जन जन तक पहुचाने के लिए हमने बदलती […]

Continue Reading
जैविक खेती

जैविक खेती हानिकारक कीट का दुश्मन कीट बनाकर फसल की सुरक्षा करती है

जैविक खेती एक वैकल्पिक कृषि प्रणाली है जो 20वीं सदी में प्रारम्भ हुई। इसका उद्देश्य खेती करने के तरीकों में बदलाव करना है। यह वह विधि है जो संश्लेषित उर्वरकों एवं संश्लेषित कीटनाशकों के अप्रयोग या न्यूनतम प्रयोग पर आधारित है। इस प्रकार की खेती आज विभिन्न जैविक कृषि संगठनों द्धरा विकसित की जा रही […]

Continue Reading
Impacts-of-GST-Bill

GST लागू होने के बाद हमारी रोजमर्रा की जरूरतें आज से कितनी सस्ती-महंगी?

नई दिल्ली. देशभर में 1 जुलाई से गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) लागू हो चुका है। इसमें खाने-पीने के ज्यादातर सामान सस्ते होंगे। फल, सब्जियां, दालें, गेहूं, चावल आदि पहले की तरह टैक्स फ्री रहेंगे। हालांकि चिप्स, बिस्किट, मक्खन, चाय और कॉफी जैसे प्रोडक्ट्स पर 10% तक ज्यादा टैक्स देना होगा। खाद्य तेल पर टैक्स […]

Continue Reading